28 September 2016 Murli

English

Essence: Sweet children, you are listening to new spiritual things from the spiritual Father. You know that just as you souls have come here having changed your form, so the Father has also come in the same way.

Question: What title can the little children claim if they pay great attention to the explanations that the Father gives?
Answer: That of spiritual leader. If the little children do something courageous and pay attention to the things that the Father says and they explain them to others, everyone will give them a lot of love. The Father’s name will also be glorified.

Song: Leave your throne of the sky and come down to earth.

Essence for dharna:
1. Remove this dirty old world that is like cow dung from your intellect. Remember the golden-aged world and maintain unlimited happiness and intoxication. Never cry.
2. Imbibe the deep and entertaining things that the Father tells you and then explain them to everyone. Claim the title of a spiritual leader.

Blessing: May you claim a right to the highest status and make Maya bow down in front of you through your elevated stage.
Great souls never bow down in front of anyone, but everyone else bows down in front of them. Similarly, you most elevated souls, who have been selected by the Father, cannot allow yourselves to bow down anywhere: neither to any situation nor to any of the various attractive forms of Maya. When you remain stable from now in the stage of always making others bow down in front of you, you will claim a right to the highest stage. In the golden age, people will bow down in front of such souls with respect and in the copper age, the devotees will continue to bow down in front of your memorials.

Slogan: When you have an accurate balance of yoga when performing actions, you will be called a karma yogi.

Hindi

मुरली सार :- “मीठे बच्चे – तुम रूहानी बाप से नई-नई रूहानी बातें सुन रहे हो, तुम जानते हो जैसे हम आत्मायें अपना रूप बदलकर आये हैं, वैसे बाप भी आये हैं”
प्रश्न:- छोटे-छोटे बच्चे बाप की समझानी पर अच्छी रीति ध्यान दें, तो कौन सा टाइटल ले सकते हैं?
उत्तर:- स्प्रीचुअल लीडर का। छोटे बच्चे अगर कोई हिम्मत का काम करके दिखायें, बाप से जो सुनते हैं उस पर ध्यान दें और दूसरों को समझायें तो उन्हें सब बहुत प्यार करेंगे। बाप का नाम भी बाला हो जायेगा।
गीत:- छोड़ भी दे आकाश सिंहासन….
धारणा के लिए मुख्य सार:-
1) इस पुरानी छी-छी गोबर मिसल दुनिया को बुद्धि से भूल सतयुगी दुनिया को याद कर अपार खुशी व नशे में रहना है। कभी भी रोना नहीं है।
2) बाप जो गुह्य रमणीक बातें सुनाते हैं उन्हें धारण कर सबको समझाना है। स्प्रीचुअल लीडर का टाइटल लेना है।
वरदान:- अपनी श्रेष्ठ स्थिति द्वारा माया को स्वयं के आगे झुकाने वाले हाइएस्ट पद के अधिकारी भव
जैसे महान आत्मायें कभी किसी के आगे झुकती नहीं हैं, उनके आगे सभी झुकते हैं। ऐसे आप बाप की चुनी हुई सर्वश्रेष्ठ आत्मायें कहाँ भी, कोई भी परिस्थिति में वा माया के भिन्न-भिन्न आकर्षण करने वाले रूपों में अपने को झुका नहीं सकती। जब अभी से सदा झुकाने की स्थिति में स्थित रहेंगे तब हाइएस्ट पद का अधिकार प्राप्त होगा। ऐसी आत्माओं के आगे सतयुग में प्रजा स्वमान से झुकेगी और द्वापर में आप लोगों के यादगार के आगे भक्त झुकते रहेंगे।
स्लोगन:- कर्म के समय योग का बैलेन्स ठीक हो तब कहेंगे कर्मयोगी।

Comments

comments